Chairman Message

मेरे प्रिय साथियो,

 

हिंदी दिवस के शुभ अवसर पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं प्रेषित करता हूँ। हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा है, राजभाषा है, हमारे गौरव, हमारे मान-समान व स्वाभिमान की भाषा है। हिंदी में वह शक्ति है जो समस्त भारत वर्ष को एकता के सूत्र में पिरोने की सामर्थ्य रखती है। हिंदी हमारे भावों की बहती निर्मल गंगा है जिसका पावन शब्द-जल हमें एक से अनेक तक ले जाता है। 

 

 

 

हमारा विशाल भारत वर्ष विभिन्नताओं में एकता का देश है। अनेक भाषाएं और अनेकानेक बोलियाँ यहाँ की वैचारिक समृद्धि की प्रतीक हैं। हिंदी को हमने राजभाषा के रूप में अपनाया है और कार्यालयीन कार्य मे इसके प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए देश को 'क', 'ख' और 'ग' तीन भागों में बांटा गया है। हमारा हरियाणा सर्वाधिक हिंदी वाले  'क'  भाग में आता है। 

हमारे प्रदेश में हिंदी आम जनमानस की भाषा है। हमारा प्रत्येक ग्राहक हिंदी बोलता लिखता और समझता है। अतः हमारे लिए हिंदी भाषा ग्राहक से बातचीत का सर्वाधिक उपयोगी माध्यम है।  आप ग्राहक से तभी सीधे जुड़ सकते हैं जब उससे उसी की भाषा में बात करें। इससे आपको उसका विश्वास हासिल करने में  सफलता मिलती है और सहयोग प्राप्त करने में भी। जो कि एक बैंकर के लिए अति आवश्यक है अपने व्यवसाय वृद्धि, निर्धारित लक्ष्यों और सामाजिक उत्तरदायित्वों को पूरा करने में। 

साथियो, हम सब का दायित्व बनता है कि हम अपनी राष्ट्रभाषा को अधिक से अधिक उपयोग में लाकर उसे विश्व में गौरवमय स्थान दिलाने में अपनी भूमिका सुनिश्चित करें। आजकल  कंप्यूटर और मोबाइल में विभिन्न अनुप्रयोगों की सहायता से हिंदी टाइप करना बहुत आसान हो गया है। मेरा आप सभी से अनुरोध है कि हिंदी मास में ही नहीं बल्कि वर्ष भर हिंदी में कार्य करें। इसे अपने दैनिक जीवन का अंग बनाएं और दूसरों के लिए भी राजभाषा प्रेरक बनें।

हमें पर-भाषा अंग्रेजी के सम्मोहन से बचना चाहिए। अपनी भाषा अपनी होती है। प्रसिद्ध कवि भारतेन्दु हरिश्चंद्र ने तो यहाँ तक कहा है कि -

निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल।
बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल।।

 

मैं कामना करता हूँ कि आप सब राजभाषा हिंदी के प्रचार-प्रसार में सहर्ष सहभागी होंगे। मेरा अनुरोध है कि हिंदी दिवस आयोजनों में कोविड-19 से बचाव के लिए निर्धारित मानकों का ध्यान अवश्य रखें।  

मुझे आशा ही नहीं पूरा विश्वास है कि आप निर्धारित व्यावसायिक लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु पूरे मनोयोग से कार्य करते हुए उपलब्धियों के नए शिखर गढ़ेंगे। 

हार्दिक शुभकामनाओं के साथ!

 

आपका शुभाकांक्षी,

 

प्रणय कुमार मोहंती

 

                                         'कोरोना से बचाव के लिए सावधानी रखें'

Copyright@2013. All rights Reserved.