Chairman Message

सन्देश                                                                      दिनांक: 30.12.2017

    

मेरे प्रिय साथियो,


नववर्ष पर आप सभी को सपरिवार हार्दिक मंगलकामनायें प्रेषित करते हुए मुझे अपार हर्ष हो रहा है। नव वर्ष आशाओं और सपनों को साकार करने का उत्साह लेकर आता है। समय की दो ईकाइयों के संगमस्थल पर खड़े होकर हम कुछ देर अतीत और भविष्य में एक साथ झांकते हैं।

 

 

बीता हुआ समय हमारी उपलब्धियों की समीक्षा का होता है तो आने वाला हमारी सम्भावनाओं, योजनाओं के बारे में चिंतन का, जिसमें हम लक्ष्य तय करते हैं और संकल्प साधते हैं। हम बैंकर अपने लक्ष्यों के प्रति विशेष सजग होते हैं। वर्ष 2017 की बात करें तो हमारी मुट्ठी में अनेक सफलतायें हैं तो कहीं हम कम सफल भी रहे हैं, कुल मिलाकर वर्ष 2017 में हमारी प्राप्तियाँ मिश्रित रही हैं। 

बैकिंग परिदृश्य में तेजी से हो रहे परिवर्तनों के बावजूद बैंक ने सभी मानदण्डों में सकारात्मक प्रगति दर्ज की है। इस वर्ष हमने अपने कुल व्यवसाय को रू. 20,000 करोड़ के पार ले जाने का सम्मानजनक स्कोर बनाया है। हमने नये ऋण देने, ऋण वसूली, आधार सीडिंग, मोबाइल सीडिंग, रूपे एटीएम कार्ड जारी करने में सराहनीय कार्य किया है। शाखा विस्तार का लक्ष्य पार करते हुए 20 के लक्ष्य के सापेक्ष में 22 शाखायें खोल चुके हैं। बीते वर्ष हम सबसे पहले प्रोन्नति प्रक्रिया पूरी करने वाले बैंक बने। Un-Banked एरिया में Door Step सेवायें पहुँचाने के लिये हमारे 647 बीसीए सेवायें दे रहे हैं। डिजिटल बैंकिंग में हमने e-Commerce, IMPS, Mobile Banking(IBFT/NEFT/IMPS/Bill desk),Huda Utility Payment लागू किये। एनपीए एवं अनियमित ऋणों की वसूली में हमारी टीम अच्छा कार्य कर रही है। वित्तीय साक्षरता एवं समावेशन तथा सामाजिक मानदण्डों में हमारे प्रयासों को नाबार्ड एवं भारतीय रिजर्व बैंक ने पहचाना है।

साथियो, नये वर्ष की प्रतिबद्धताओं में हमारा मुख्य फोकस, CASA डिपाजिट, क्रेडिट ग्रोथ तथा एनपीए एवं अनियमित ऋणों की वसूली पर रहेगा। वर्ष 2018 के प्रथम तीन महीने हमसे कुछ अधिक योगदान की अपेक्षा रखते हैं, क्योंकि यही वह समय है जो हमारे पूरे वर्ष के लक्ष्यों की प्राप्ति की आधारशिला बनेगा।

जमा राशियों में हमें CASA पर अधिक ध्यान देते हुए मार्च 2019 तक अपने कुल व्यवसाय को रू. 25,000 करोड़ के पार ले जाना है। कम ब्याज दर की जमाओं से बैंक पर ब्याज का भार कम पड़ता है और लाभ में वृद्धि होती है, लाभ किसी भी संस्था की रीढ़ होता है। अतः बचत एवं चालू खातों में जमा संग्रहण पर जोर दें और अधिक से अधिक ग्राहकों को बैंक से जोड़ें। 

क्रेडिट ग्रोथ को बढ़ाने के लिये नये और क्वालिटी ऋणों पर ध्यान देना है। कृषि ऋणों, उनमें भी के.सी.सी. पर अत्यधिक निर्भरता को कम करने हेतु के.सी.सी. से डायवर्शन करते हुए उसके साथ किसानों को सहायक क्रियाओं जैसे जमीन सुधार, सिंचाई साधनों एवं पशुपालन के लिये भी ऋण दें। इससे किसानों की विविध जरूरतों की पूर्ति होगी तथा हमारे इन्वेस्टमेंट क्रेडिट को बढ़ावा मिलेगा। इसके अतिरिक्त MSME ऋणों को बढ़ावा देते हुए SHG एवं JLG के गठन पर तथा क्रेडिट लिंकेज पर ध्यान दें।

आज के समय बैंकों के लिये एनपीए चुनौती बनकर सामने आया है। एनपीए का सीधा असर लाभ पर पड़ता है। हमें अपने एनपीए और अनियमित खातों को परफोर्मिंग एस्सेट्स में बदलना है। नये खातों को अनियमित नहीं होने देना है, अपनी-अपनी बेलेंस शीट साफ सुथरी रखते हुए एनपीए के स्तर को 4.25ः तक रखना हमारा लक्ष्य है। 

अतः वसूली के समग्र प्रयासों के रूप में बैंक द्वारा दी जा रही ब्याज छूट योजनाओं (OTS) का पूरा लाभ लेने के लिये ग्राहकों को तैयार करना होगा। व्यक्तिगत सम्पर्क, वसूली नोटिस, फोन, तथा इसके बाद एचआरए, सरफेसी, सैक्शन 138 आदि के अन्तर्गत ऋण की प्रकृति के अनुरूप आवश्यक कार्रवाई करें। किसी भी प्रयास को छोटा न समझें। हजारों मील की यात्रा भी एक कदम से ही शुरू होती है। प्रत्येक ईकाई अपने बैंक के लिये अति महत्त्वपूर्ण है। अतः कोई भी अपने योगदान को छोटा न समझे। टीम भावना से कार्य करते हुए एनपीए रूपी चुनौती पर हमें विजय प्राप्त करनी है।

इस समय बैंक की लाभ की स्थिति सुदृ़ढ़ है। लेकिन हमें अपने प्रोफिट को मेन्टेन रखने के लिये एनपीए वसूली में अपना पूरा योगदान देते हुए एनपीए को सीमाओं में रखना होगा। इसके अतिरिक्त किसी भी तरह की रेवेन्यू लीकेज न होने दें। इन्वेस्टमेंट क्रेडिट को बढ़ावा दें, खर्चों पर नियन्त्रण रखें। ब्याज से अलग आय के स्रोत खोजते हुए क्रास सेलिंग पर जोर दें। 

मानव संसाधन की सक्षमता को बढ़ाने पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। इस वर्ष हम रिटेल में, SME में स्पेशलाइजेशन ट्रेनिंग प्रोग्राम रखेंगे, जो साथी रूचि रखते हों अपने नाम क्षेत्रीय कार्यालय को प्रेषित करें। बेहतरीन कार्यनिष्पादन को Appreciate किया जायेगा। इस वर्ष सभी लक्ष्यों के साथ उत्कृष्ट कार्य निष्पादन को विषिष्ट पहचान देना भी हमारा लक्ष्य है। 

इस वर्ष शत-प्रतिशत खातों में आधार सीडिंग, मोबाइल सीडिंग, एटीएम कार्ड जारी करने तथा सभी खाते ईकेवायसी से खोलने का लक्ष्य है। अधिकाधिक केशलेस बैंकिंग की तरफ बढ़ना है। अभी हमारे 8331 खाता धारक मोबाइल बैंकिंग का उपयोग कर रहे हैं, इस वर्ष कम से कम 1 लाख प्रीमियम ग्राहकों को मोबाइल बैंकिंग से जोड़ने का लक्ष्य हमने रखा है। भीम यूपीआई पर हमारा कार्य तेजी से जारी है और शीघ्र ही ये एप्प हमारी कार्यप्रणाली का अंग होगी।

साथियो, श्रेष्ठ ग्राहक सेवा हमारे लक्ष्यों की प्राप्ति में विशेष सहायक होती है। ‘मीठी वाणी और समय पर काम‘ ग्राहक के विश्वास को आपके प्रति सुदृढ करता है और इसके सुखद परिणाम आपकी सफलता का मार्ग प्रशस्त करते हैं। व्यावसायिकता के इस दौर में स्टाफ एवं संस्था एक दूसरे से अत्यधिक घुले मिले हैं। ‘बैंक आगे बढ़ेगा तो हम आगे बढ़ेगें।‘ हमारा बैंक आज अपनी विशिष्ट पहचान बना रहा है। हम प्रथम दस आर.आर.बी में शामिल हैं। हमें अपनी ईमेज को और अधिक सुन्दर बनाना है, अपने स्टेट्स को और अधिक ऊँचा उठाना है और ये लक्ष्य पूरे होंगे सक्षम, दृढ संकल्पी जुझारू टीम की लगन से। 

इरादे नेक, कदम मजबूत मिलकर हमको चलना है। 
हठी हम आप जैसे हों तो मंजिल को तो मिलना है। 
नये साल में नयी उड़ाने भरने  को  ‘पर‘ तोलिये-
अम्बर भी छोटा पड़ जाये इतना हमको उड़ना है।।

साथियो, पूरे एक वर्ष बाद जब हम अपने इन लक्ष्यों के सापेक्ष में प्राप्तियों की समीक्षा करें तो सफलता की, तृप्ति की एक मधुर मुस्कान हमारे चेहरे पर तैर जाये, हम ऐसा कार्य करने का संकल्प लें। 

पूरे वर्ष आपके घर-आंगन में खुशियाँ, तन में ताजगी और मन में भरपूर उल्लास रहे यही मंगलकामना करता हूँ-  HAPPY NEW YEAR TO ALL OF YOU.
                
   

आपका,

(डाॅ0 मानवेन्द्र प्रताप सिंह)

Copyright@2013. All rights Reserved.